यूपी में महंगी हुई शराब


लखनऊ। उप्र सरकार ने कैबिनेट बैठक में लॉकडाउन के दौरान हुई राजस्व हानि की भरपाई में मदद के लिए शराब, पेट्रोल और डीजल पर लागू मूल्यवर्द्धित कर (वैट) में बढ़ोत्तरी की है। यूपी के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बताया कि पेट्रोल में एक रूपये प्रति लीटर की और डीजल में दो रूपये प्रति लीटर की बढोत्तरी की गई है। इसके अलावा यूपी में अब शराब भी महंगी हो गई है। 


जानें शराब हुई कितनी महंगी : 


विदेशी शराब पर 180 एमएल तक 10 रुपये ,180 एमएल से 500 एमएल तक 20 रुपये, 500 एमएल से अधिक पर  30 की वृद्धि की गई है । मीडियम क्वालिटी की शराब पर 180 एमएल तक 10 रुपये, 180 एमएल से  500 एमएल  तक  20 रुपये,  500 एमएल से अधिक पर 30 रुपये की वृद्धि की गई है।  इसी तरह रेगुलर पर 180 एमएल  20 रुपये, 180 एमएल से 500 एमएल तक 30 रुपये,  500 एमएल से अधिक पर 50 की वृद्धि की गई है ।


प्रीमियम क्वालिटी की शराब पर 180 एमएल  20 रुपये , 180 एमएल से 500 तक एमएल 30 रुपये , 500 एमएल से अधिक पर 50 की वृद्धि की गई है । समुद्र पार यानी विदेश से आने वाली शराब पर सर्वाधिक वृद्धि 180 एमएल की बोतल पर 100 रुपये, 180 एमएल से 500 एमएल तक की बोतल पर  200 रुपये की वृद्धि की गई है। 500 एमएल से अधिक की बोतल पर  400 रुपये की वृद्धि की गई है। इससे राज्य सरकार को 2350 करोड़ों रुपए का अतिरिक्त राजस्व वर्ष 2020-21 में मिलेगा। 


इतना बढ़ा पेट्रेाल डीजल के दाम :  सुरेश खन्ना ने बताया कि वर्तमान में पेट्रोल का दाम 71.91 रुपये प्रति लीटर था जो अब 73.91 रुपये प्रति लीटर हो जाएगा। वहीं, डीजल का मूल्य 62.86 रुपये से बढ़कर 63.86 रुपये प्रति लीटर होगा। उन्होंने बताया कि बढ़ी हुई कीमत आज (बुधवार) रात 12 बजे से प्रभावी होगी।  उन्होंने कहा कि 22 मार्च से जारी लॉकडाउन के कारण हमारे आर्थिक संसाधन काफी कम हुए हैं। उन्होंने बताया, ''अप्रैल में 12,141 करोड़ रुपए कर की डिमांड थी, जिसके सापेक्ष हमारा संग्रहण 1,178 करोड़ रुपए हुआ। यह अपने आप में बहुत कम है। हमारी आर्थिक स्थिति इस महीने काफी कमजोर रही और वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए अतिरिक्त संसाधन जुटाना जरूरी है।