रायबरेली में कोरोना से पहली मौत, सुलतानपुर में कोरोना संदिग्ध की मौत-अंबेडकरनगर में सात पॉजिटिव

रायबरेली में कोरोना से पीड़ित वृद्ध की हुई मौत कैंसर से पीड़ित था कोरोना पीड़ित सुलतानपुर में होम क्वारंटाइन में युवक की मौत। 



लखनऊ। कोरोना वायरस से रायबरेली में पहली मौत हो गई है। कैंसर पीड़ित वृद्ध की कोरोना इलाज के दौरान पीजीआई लखनऊ में मौत हुई। सलोन कोतवाली क्षेत्र के सराय अख्तियार गांव का रहने वाला था बुजुर्ग। कोरोना प्रोटोकॉल का तहत अंतिम संस्कार किया जाएगा। वहीं सुलतानपुर में भी कोरोना के एक संदिग्ध मरीज की मौत हो गई है। अंबेडकरनगर में रविवार को सात कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इसके अलावा लखनऊ में रविवार को पांच और लोगों को कोरोना हुआ। इसमें रामसागर मिश्र अस्पताल के एक डॉक्टर, दो नर्स, एक मजदूर व एक एम्बुलेंस का इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन है। वहीं शनिवार को भी कोरोना का विस्फोट हुआ। एक के बाद एक 11 लोगों में वायरस की पुष्टि हुई। सुबह मुंबई से लौटे मजदूरों में वायरस पाया गया। सदर इलाके से दो लोगों में संक्रमण मिला। उसी दौरान केजीएमयू के क्वीनमेरी अस्पताल में एक प्रसूता की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिलने से हड़कंप मच गया। उधर, शाम तक गोंडा निवासी एक मरीज को ट्रामा सेंटर में भर्ती किया गया। संक्रमित मरीज को लेकर परिवारजन ट्रामा सेंटर में टहलते रहे।


सुलतानपुर में होम क्वारंटाइन में एक की मौत


सुलतानपुर के लम्भुआ तहसील क्षेत्र के हड़हा गांव में होम क्वारंटाइन किए गए व्यक्ति की मौत हो गई। पांच दिन पहले वह मुंबई से घर आया था। जिले में पहुंचने पर गणपत सहाय पीजी कालेज में चिकित्सकों द्वारा उसकी जांच की गई थी, लेकिन उसका कोरोना का सैंपल नहीं हुआ था। उसे होम क्वारंटाइन की मोहर लगाकर घर भेजा गया था। मौत के बाद सुबह दस बजे परिवारजन ने गांव के बाग में ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया। दोपहर बाद ग्रामीणों की सूचना पर मेडिकल टीम भेजकर परिवारजन का सैम्पल कराया जा रहा है।


अंबेडकरनगर में 13 मरीज


जिले में कोराेना बम फूटा है। रविवार को एक साथ सात मरीज कोरोना पॉजिटिव मिलने से प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया। इस तरह कुल संख्या बढ़कर 13 को हो गई है। ताजा मामला बड़ेरिया भीटी, जलालपुर के रूपमपुर, गौरा कमालपुर व फरीदपुर, अकबरपुर के कबीरपुर व सद्​दरपुर तथा बरियावन सम्मनपुर से जुड़ा है। इन गांवों के निवासी एक-एक कुल सात लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। सभी जिला अस्पताल के क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती हैं। कोरोना पीड़ित दिल्ली, व मुंबई से आए थे जिनका नमूना गत 15 मई को जांच के लिए भेजा गया था। संबंधित गांव में प्रशासनिक अधिकारी व स्वास्थ्य विभाग की टीम संबंधित थानों की पुलिस के साथ पहुंचकर सील करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। पीड़ितों को अलग-अलग एंबुलेंस से बाराबंकी के एल-वन कोविड हॉस्पिटल में भेजा जा रहा है। सीएमओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि पीड़ितों को एल-वन कोविड हॉस्पिटल भेजने के साथ ही उनके परिजनों को भी क्वारंटाइन करते हुए नमूना जांच के लिए भेजा जाएगा। साथ ही संबंधित क्षेत्र को एक किलोमीटर की परिधि में सील करते हुए सभी की स्क्रीनिंग की जाएगी और गांव को सैनिटाइज कराया जाएगा।



लखनऊ में 303 हुए मरीज, 15 डिस्चार्ज


शनिवार को 11 नए मरीज आने पर राजधानी में कुल 298 केस हुए थे। इसमें गैर जनपद के भी शामिल रहे। रविवार को आई रिपोर्ट के बाद राजधानी में अब मरीजों की संख्या 303 हो गई है। शेष गैर जनपद के हैं। वहीं, शनिवार को ही 15 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आने पर डिस्चार्ज किया गया। इसमें छह मरीज रामसागर अस्पताल, आठ लोक बंधु व एक पीजीआइ में भर्ती था। अब तक कुल 239 लोग ठीक हो चुके हैं।


इन गांवों में मचा हड़कंप


काकोरी की गर्भवती में वायरस की पुष्टि होने पर क्षेत्र में हड़कंप मच गया। वहीं, काकोरी के गोपरामऊ निवासी तीन मजदूर, बीकेटी के सोनवा, समेसी के एक-एक मजदूर व नगराम, निगोहा निवासी एक-एक मजदूर में वायरस की पुष्टि हुई है। यह सभी मुंबई से लौटे थे। अब क्वारंटाइन सेंटर से अस्पताल भेज दिया गया है। बावजूद गांवों में हड़कंप मच गया है। वहीं की आशा, प्रधान समेत निगरानी समिति अलर्ट हो गई है।


ट्रॉमा में लेकर टहले कोरोना मरीज


गोंडा निवासी 40 वर्षीय व्यक्ति दिल्ली से लौटा था। उसके सिर में चोट लग गई थी। ऐसे में चार दिन पहले परिवारजन इलाज के लिए केजीएमयू लाए। यहां वृद्धावस्था के ट्राएज एरिया में उसकी स्क्रीनिंग कर भर्ती किया गया। इस दौरान न्यूरो सर्जरी वार्ड या ट्रॉमा सेंटर में शिफ्ट करने से पहले उसके कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल लिया गया। मगर, उससे जांच कंफर्म नहीं हो सकी। ऐसे में दोबारा सैंपल भेजा गया। इसी दरम्यान शनिवार को ट्रॉमा सेंटर में होल्डिंए एरिया शुरू की गई। इसमें वृद्धावस्था के ट्राएज एरिया से ढाई बजे दस निगेटिव मरीजों की शिफ्टिंग के निर्देश दिए गए। इन मरीजों को शिफ्ट किया जा रहा था। इसी बीच शाम पांच बजे संक्रमित मरीज को लेकर परिवारजन ट्रॉमा सेंटर पहुंच गए। वह ग्राउंड फ्लोर से लेकर प्रथम फ्लोर पर मरीज को लेकर टहलते रहे। प्रथम फ्लोर के आरएसओ जनरल सर्जरी वार्ड नंबर दस में ले गए। ऐसे में वार्ड को बंद कर सैनिटाइज किया गया। साथ ही ड्यूटी पर तैनात स्टाफ को क्वारंटाइन किया गया।


नौ हजार लोगों का जुटाया ब्योरा


विराम खंड दो, तीन, चार, पांच में संक्रमण मुक्ति के लिए अभियान चलाया गया। इसमें 3 सदस्य 30 व 20 सुपरवाइजर की ड्यूटी लगाई गई। इस दौरान टीम ने 2538 घर का भ्रमण किया। इसमें 9017 लोगों का स्वास्थ्य ब्योरा जुटाया।


लखीमपुर में 10 संक्रमित और बढ़े, अब संख्या 27 


67 प्रवासी श्रमिकों की रिपोर्ट आई है, जिनमें से 10 पॉजिटिव और 57 नेगेटिव पाए गए। जिनमें चार पॉजिटिव प्रवासी श्रमिक हैं, जो ठाणे (महाराष्ट्र) से आए थे, पसगवां के मूल निवासी हैं और वर्तमान में क्वारंटाइन में है। दो पॉजिटिव प्रवासी श्रमिक मुंबई से आए हैं, जो चंदन चौकी के मूल निवासी हैं। एक पॉजिटिव प्रवासी श्रमिक जयपुर से आया है और ईसानगर का रहने वाला है। वहीं, एक पॉजिटिव प्रवासी श्रमिक नवी मुंबई से आया है, जो ग्राम सर्वा, खीरी का रहने वाला है। अंधेरी मुंबई से आया एक पॉजिटिव प्रवासी श्रमिक, जो ग्राम बैरिया निघासन का रहने वाला है। इस सभी को वर्तमान में संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर डाइट राजापुर में रखा गया है। उधर, स्क्रीनिंग होम में ड्यूटी कर रहे एक चिकित्सक की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, जिसे कोविड-19 लेवल वन चिकित्सालय में भेज दिया गया है। बता दें, ऐसे में अब जिले में कुल 32 पॉजिटिव मामले हैं, जिनमें पांच पॉजिटिव केस उपचार उपरांत डिस्चार्ज हो चुके हैं। 


सीतापुर में आठ और प्रवासी श्रमिक कोरोना पॉजिटिव


जिले में रविवार को आठ और प्रवासी श्रमिक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इस तरह अब जिले में संक्रमित मिलने वाले लोगों की कुल संख्या 33 हो गई है। शनिवार देर रात आई रिपोर्ट के बाद से पॉजिटिव मिलने वाले रोगियों को कोविड अस्पताल खैराबाद लाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। एसीएमओ डॉ पीके सिंह ने बताया कि, जो व्यक्ति संक्रमित पाए गए हैं, उनमें सभी 16 से 22 वर्ष के युवा हैं। इनमें 7 लोग रेउसा क्षेत्र के हैं, जबकि एक युवा बिसवां के परसेहरा गांव का है, जो सबसे कम उम्र 16 साल का है। यह सभी  कुल 57 लोग कुछ दिन पहले ही राजस्थान के उदयपुर से आए थे। इन लोगों को बिसवां के सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल में क्वारंटाइन कर रखा गया है। इनमें जो आठ लोग संक्रमित मिले हैं उन्हें अब कोविड अस्पताल खैराबाद लाया जा रहा है। क्योंकि यह लोग पहले से क्वारंटाइन थे, इसलिए बिसवां में कोई नया हॉटस्पॉट भी नहीं बनेगा। फिलहाल इन आठ के संक्रमित होने के बाद अब जिले में मिलने वाले कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या बढ़कर 33 हो गई है। वैसे इनमें 20 रोगी ठीक होकर अस्पताल जा चुके हैं।


श्रावस्ती में तीन और मिले कोरोना पॉजिटिव


जिले में तीन और लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। सभी मुंबई से घर लौटे थे। यह सभी सिरसिया, मल्हीपुर व इकौना थाना क्षेत्र के हैं निवासी। अब तक जिले में कुल 17 संक्रमितों की संख्या हो गई है। दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद चार को डिस्चार्ज किया जा चुका है। वहीं,  एक वृद्ध की मौत हो चुकी है । 12 एक्टिव संक्रमितों में से नौ कोविड-19 अस्पताल बहराइच में हैं भर्ती। तीन नए पॉजिटव युवकों का श्रावस्ती के भंगहा स्थित कोविड-19 अस्पताल में इलाज चलेगा। 


अमेठी में एक और संक्रमित 


जिले के विकास खंड जामों के गांव गोरियाबाद में एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिला है। 11 तारीख को ट्रेन द्वारा मुंबई से प्रतापगढ़ आए व्यक्ति का 12 तारीख को प्रतापगढ़ में ही सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया। इसके बाद वह अमेठी आया। यहां उसको क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया। उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। जिले में अब तक कुल 17 केस सामने आ चुके हैं।  जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।