लखनऊ के मछली मोहाल में एक और को कोरोना, हजरतगंज तक पहुंचा वायरस-कम्युनिटि संक्रमण की आहट

हजरतगंज के नरही में पहला कोरोना मरीज मिलने से प्रशासन की नींद उड़ गई है। राजधानी में 257 कोरोना मरीज 185 हुए स्वस्थ।



लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। शनिवार को राजधानी के मछली मोहाल में एक मरीज में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं, बीते दिन शुक्रवार को तीन और मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई। इसमें एक केस सब्जी मंडी कैसरबाग, दूसरा केस फतेहगंज अमीनाबाद तथा तीसरा मामला हजरतगंज के नरही का है। हजरतगंज में पहला कोरोना मरीज मिलने से प्रशासन की नींद उड़ गई है। नरही निवासी एक गर्भवती में कोरोना की पुष्टि से पूरे इलाके में दहशत है। जानकारी के मुताबिक, महिला छह मई तक विवेकानंद अस्पताल गई थी। उसकी कहीं यात्रा की हिस्ट्री नहीं है। लेकिन आसपास की दुकानों व अन्य जगह जाने की जानकारी से दहशत बनी हुई है। राजधानी में अब कोरोना मरीजों की संख्या 257 हो गई है। जिसमें शहर निवासी 177 हो गई है। 


राजधानी का पहला सरकारी अस्पताल सील 


वहीं, राजाजीपुरम स्थित आरएलबी अस्पताल को तीन दिनों के लिए सील कर दिया गया है। यह राजधानी का पहला सरकारी अस्पताल है, जिसे सील किया गया है। यहां गत चार मई को एक 20 वर्षीय लावारिस युवती का इलाज किया गया था। जिसकी रिपोर्ट बाद में पॉजिटिव आई थी। अभी यहां से 10 लोगों को हाईरिस्क व 45 को लो रिस्क में रखा गया है। सभी की रिपोर्ट आने के बाद अस्पताल को पुन: चालू किया जाएगा। 


कैसरबाग अभी भी हॉट स्पॉट 


उधर, राजधानी के  कैसरबाग लगातार मिल रहे कोरोना पॉजिटिव मरीजों से इलाके की संवेदनशीलता भी बढ़ती जा रही है। तीन मई को यहां तीन संक्रमित मरीज मिले थे, जिसमें दो सब्जी विक्रेता और एक जनरल स्टोर संचालक था। इसके बाद इन सभी के परिवारजन और संपर्क में आए लोगों के नमूने जांच के लिए गए थे। शुक्रवार को आई रिपोर्ट में पता चला कि पूर्व में पॉजिटिव आ चुका जनरल स्टोर संचालक फतेहगंज गल्ला मंडी स्थित जिस दुकान से सामान लेता था, अब वहां का एक युवक भी पॉजिटिव मिला है। वहीं,  दूसरा पॉजिटिव युवक कैसरबाग सब्जी मंडी का ही मूल निवासी है। अब इन दोनों के परिजनों के 10-10 सैंपल लिए गए हैं। तीसरा मरीज नए इलाके नरही से है। यहां की गर्भवती महिला की एक निजी लैब में जांच कराई गई तो तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जबकि अन्य दोनों मरीजों को राम सागर मिश्रा अस्पताल भेजा गया है। उधर, महिला का केजीएमयू में भर्ती कर इलाज किया जा रहा है।  सीएमओ डॉक्टर नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि शुक्रवार को तीन नए मरीज मिले हैं, जिनके परिवारजनों के नमूने भी जांच को भेजे गए हैं। 


चार को मिली छुट्टी 


बीकेटी स्थित रामसागर मिश्र अस्पताल से कोरोना संक्रमण से मुक्त होने के बाद शुक्रवार को चार और मरीजों को छुट्टी मिल गई है। इनमें से दो मरीज लखनऊ के निवासी हैं। बता दें, अब तक 185 लोग कोरोना के प्रकोप से बाहर आ चुके हैं।