क्या आपको पता है कि हैंड सैनिटाइजर आपके हाथों पर कितनी देर तक करता है काम?

हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो वायरस को फैलने से रोकने का एक सबसे अच्छा तरीका है अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करना। सैनिटाइजर आपको बीमारी से रखेगा महफूज।



कोरोना से बचने का एक मात्र रास्ता है इससे अपना बचाव करना। बचाव करने के लिए सबसे बेहतर उपाय है हाथों को बार-बार धोना या फिर हाथों को सैनिटाइज करना। हाथों को सैनिटाइज करने से मतलब ये नहीं है कि आप दिन में एक से दो बार सैनिटाइजर लगाएंगे तो आप इस वायरस की चपेट में नहीं आएंगे। वैश्विक स्तर पर फैले कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए सभी को घरों में रहने और बार-बार हाथ धोने या हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करने की सलाह दी गई है। लेकिन सवाल ये उठता है कि हाथों पर कितने समय तक सैनिटाइजर प्रभावी रहता है? इसे कब और कैसे इस्तेमाल कर सकते है?


बाहर निकलने पर हाथों को सैनिटाइज जरूरी करें। लॉकडाउन में थोड़ा लचीलापन आ जाने से आपको अपनी सेफ्टी का खुद ध्यान रखना जरूरी है। बाजार, डॉक्टर के पास या फिर किसी काम के लिए घर से बाहर निलकने पर हाथों को सैनिटाइज करते रहना जरूरी है। यह हमें वायरस से बचाने में मददगार हो सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो वायरस को फैलने से रोकने का एक सबसे अच्छा तरीका है अल्कोहल बेस्ड हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करना।


सैनिटाइजर लंबे समय तक काम नहीं करता है और इसलिए साबुन और पानी से हाथ धोना बेहतर होता है। वैसे हैंड सैनिटाइज़र एक सुविधाजनक विकल्प है। जब आप साबुन और पानी से हाथ धोते हैं तो सभी तरह के कीटाणु नाली में बह जाते हैं, जबकि हैंड सैनिटाइजर आपके हाथ पर मौजूद सभी कीटाणुओं को उसी समय मार देता है। लेकिन जैसे ही आप किसी दूसरी जगह के संपर्क में आते हैं तो आपके हाथ फिर से गंदे हो जाते हैं। इसलिए आपके हाथ कितनी देर तक सेफ रहेंगे, यह आपके द्वारा किसी संक्रमित चीज को छूने पर निर्भर करता है।


जब आप किसी गंदी सतह को छूएं तो आपको तुरंत हाथ साफ करने की जरूरत होती है। जब भी आप कुछ खाएं या अपने चेहरे को छूएं तो आप अपने हाथ जरूर धोएं। इसके अलावा, शौचालय जाने के बाद आपको अपने हाथों को फिर से साफ करना जरूरी है। फिर भले ही आपने उन्हें सिर्फ 10 मिनट पहले ही साफ क्यों न किया हो।