कोरोना से मृत वृद्ध के दाह संस्कार का विरोध


नई दिल्ली : राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में शुक्रवार को मृत एक कोरोना मरीज की मौत के बाद दाह संस्कार पर विवाद उत्पन्न हो गया और प्रशासन आधी रात तक उसके शव को इधर से उधर लेकर घूमता रहा। जिला मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम के एक 80 वषीर्य व्यक्ति की शुक्रवार शाम कोरोना संक्रमण के कारण जिला अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो जाने के बाद प्रशासन उसके शव को दाह संस्कार के लिए रात आठ बजे शहर के कुम्भानगर मोक्ष धाम लेकर आया लेकिन यहां पर क्षेत्र वासियों ने दाह संस्कार का विरोध शुरू कर दिया। देखते ही देखते वहाँ सैंकडों की भीड़ एकत्र हो गई जिससे टकराव के हालात उत्पन्न हो गए।


सूचना मिलने पर अतिरिक्त जिला कलेक्टर मुकेश कलाल, उपखण्ड अधिकारी अंशुल आमेरिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सरितासिंह आदि मौके पर पहुंचे और लोगों से समझाईश की लेकिन बात नहीं बनी। करीब दो घंटे तक की जद्दोजहद के बाद भी लोग विरोध पर ही अड़े रहे और अंतत: रात दस बजे प्रशासन शव को लेकर एराल गांव पहुंचा जहां पर कफ्यूर् के बीच आधी रात को उसका दाह संस्कार कर दिया गया।


अतिरिक्त जिला कलेक्टर कलाल ने बताया कि लोगों के मन में जीते जी और मरने के बाद भी कोरोना को लेकर कई भ्रांतिया है जिनमें एक यह भी है कि दाह संस्कार के धुएं से भी संक्रमण फैलता है जबकि सच्चाई इसके विपरीत है कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति के दाह संस्कार से वायरस पूरी तरह नष्ट हो जाता है और धुंए से कोई संक्रमण नहीं फैलता है।  बता दें कि राजस्थान में भी कोरोना के मामलो में काफी तेजी देखी जा रही है। यहां कोरोना वायरस के अब तक 6494 मामले सामने आ चुके हैं। 153 लोगों की मौत का मामला सामने आया है, वहीं 3680 लोग ठीक हो चुके हैं।


भारत में कोरोना वायरस के मामलों में हर दिन इजाफा देखने को मिल रहा रहा है और रोज यह सबसे अधिक मामलों का रिकॉर्ड बनाता जा रहा है। आज भी कोरोना का अब तक का सबसे बड़ा उछाल सामने आया है। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 6654 नए मामले सामने आए हैं और करीब 137 लोगों की मौतें हुई हैं। शनिवार को जारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर करीब 125101 हो गए हैं और कोविड-19 से अब तक 3720 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना के कुल 125101 केसों में 69597 एक्टिव केस हैं, वहीं 45299 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है या फिर वह ठीक हो चुके हैं। कोरोना वायरस से अब तक सर्वाधिक 1517 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई।