जल्द घुटने टेकेगा कोरोना, तेजी से ठीक हो रहे मरीज - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सभी की जागरूकता का नतीजा है कि उत्तर प्रदेश में संक्रमित होने से अधिक कोरोना से मुक्त होकर घर जाने वाले लोगों की संख्या है।



लखनऊ । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेशवासियों की सतर्कता और धैर्य के कारण ही कोरोना ने घुटने टेकना शुरू कर दिया है। सभी की जागरूकता का नतीजा है कि उत्तर प्रदेश में संक्रमित होने से अधिक कोरोना से मुक्त होकर घर जाने वाले लोगों की संख्या है। संक्रमण कम हो और लोग अधिक संख्या में स्वस्थ हो सकें, इसके लिए आने वाले समय में हमें और अधिक जागरूकता, धैर्य और साहस का परिचय देना होगा। 


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को टीम-11 के अधिकारियों के साथ लॉकडाउन के हालात की समीक्षा की। लोकभवन में पत्रकारों से बातचीत में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने कहा कि प्रवासी लोगों की हर संभव सहायता करने और उनका साथ देने के लिए प्रदेश सरकार सदैव तत्पर है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि कोई भी पैदल, दोपहिया और ट्रक पर बैठकर यात्रा न करे। यह कहीं से सुरक्षित नहीं है। धैर्य रखें, सभी जरूरतमंदों तक हम पहुंच रहे हैं। मुख्यमंत्री ने श्रमिक-कामगारों के भोजन-पानी की व्यवस्था और सभी प्रमुख मार्गों पर पुलिस पेट्रोलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए।


अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि सभी टोल प्लाजा व प्रमुख चौराहों पर प्रवासी श्रमिक-कामगारों के लिए भोजन व पेयजल की निश्शुल्क व्यवस्था हो। प्रदेश की सीमा से आने वाले लोगों का सम्मानजनक स्वागत हो, इसके लिए उन्हेंं पानी की एक बोतल जरूर दी जाए। इसके बाद उनकी स्क्रीनिंग कराकर जिलों तक पहुंचने में सहायता की जाए। सभी नेशनल हाईवे, स्टेट हाईवे, चौराहे व मार्गों की सघन पेट्रोलिंग के लिए कहा है।


अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि अबतक वापसी करने वालों की संख्या काफी अधिक हो गई है। जिसके कारण स्वास्थ्य विभाग ने भी कोरोना संक्रमण के लिए सैंपल टेस्ट करने की अपनी क्षमता का विस्तार कर लिया है। वर्तमान में 6 से अधिक सैंपलों का टेस्ट प्रतिदिन हो रहा है। जिसे बढ़ाकर 10 हजार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके अलावा बड़े पैमाने पर बेड्स की उपलब्धता पर कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से प्रदेश में 1 लाख बेड्स की कार्ययोजना तैयार कर शीघ्र ही इसके क्रियान्वयन का निर्देश दिया है।


अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही हैं। अब तक गुजरात से 275, महाराष्ट्र से 140, पंजाब से 101, राजस्थान से 17, दिल्ली से छह, तेलंगाना से सात, कर्नाटक से 20, आंध्रप्रदेश से दो, मध्यप्रदेश से दो ट्रेन सहित कुल 590 ट्रेनों से सात लाख 60 हजार से अधिक श्रमिक व कामगारों की वापसी हुई है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब 48 स्टेशनों को इन ट्रेनों के आगमन के लिए सुनिश्चित कर लिया गया है।