यूपी में 'कोरोना कैरियर' पर योगी सरकार का शिकंजा, 569 को खोज निकाला


लखनऊ। तबलीगी जमात के मरकज में शामिल होने के बाद उत्तर प्रदेश में छिपे 'कोरोना कैरियर' पर प्रदेश सरकार ने सख्त रुख अपनाया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश पुलिस ने बीते 24 घंटे में प्रदेश भर में ताबड़तोड़ छापेमारी की। इस दौरान 569 कोरोना कैरियर ढूंढ निकाले गये। पुलिस ने जमातियों को अवैध रूप से ठहराने, नियमों का उल्लंघन करने में सैकड़ों मुकदमे भी दर्ज किए हैं। उनका पासपोर्ट भी जब्त करने के निर्देश दिए गए हैं। 


मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने आवास 5, कालीदास मार्ग पर 11 टीमों के अधिकारियों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री ने जमात से वापस आए लोगों की युद्ध स्तर पर तलाश करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने तथ्यों को छिपाया है, उनकी पड़ताल की जाए और उनके खिलाफ सख्त से सख्त क़ानूनी कार्रवाई की जाए। 


सैंपल लेकर किया गया क्वारंटाइन
प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि चिह्नित किए गए 'कोरोना कैरियर' की पहचान पुलिस ने अभियान चलाकर की है। पहचान होने के बाद इन लोगों का सैंपल लिया गया है। साथ ही जिस जनपद में हैं, वहीं इन सबको क्वारंटाइन कर दिया गया है। इसके साथ ही पुलिस 'कोरोना कैरियर के संपर्क में आने वाले अन्य लोगों की तलाश भी कर रही है।


218 विदेशी भी चिह्नित
यूपी पुलिस की कार्रवाई में 218 विदेशी 'कोरोना कैरियर' भी चिह्नित किए गए हैं, जो अलग-अलग समय पर टूरिस्ट वीजा पर प्रदेश में आए थे। वे प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में रह रहे थे। इनमें से कुछ विदेशी तबीलीग जमात के मरकज में भी शामिल हुए थे। मरकज में शामिल होने वाले विदेशी 'कोरोना कैरियर' के पासपोर्ट जब्त कर पुलिस ने उन्हें क्वारंटाइन कर दिया है। 


प्रयागराज में विदेशियों समेत ठहराने वालों पर मुकदमा
प्रदेश पुलिस ने विदेशी 'कोरोना कैरियर' को ठहराने वालों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर लिया है। प्रयागराज की एक मस्जिद में बगैर जानकारी दिए रह रहे सात विदेशियों समेत 17 लोगों के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है। उन्हें क्वारंटाइन कर 11 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।


मानवता के खिलाफ किसी भी तरह की साजिश बर्दाश्त नहीं
मुख्यमंत्री ने कहा है कि इस बात का ध्यान रखा जाए कि जमात के लोगों की गलतियों का खामियाजा आम लोगों को न भुगतना पड़े। मुख्यमंत्री ने कहा कि मानवता के खिलाफ किसी भी तरह की साजिश बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिन लोगों ने मानवता खिलाफ जाकर कार्य किया है, उन्हें कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा।