यूपी के शहरों में 'कोरोना बम' फूटने का असर गांव तक पहुंचा


आगरा। उत्तर प्रदेश के कई शहरों में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद इसकस संक्रमण ग्रामीण इलाकों में भी दिखने लगा है। आगरा के 25 इलाकों के बाद अब देहात क्षेत्र में संक्रमण फैल गया है।  जमातियों ने जिससे मुलाकात की, उनमें से बड़ी संख्या में लोग संक्रमण का शिकार हुए। प्रशासन के लिए परेशानी का कारण ये भी है कि देहात क्षेत्र में उस तरह की व्यवस्थाएं नहीं हैं, जैसी शहरी क्षेत्र में हैं।


आगरा के फतेहपुरसीकरी ने सबसे ज्यादा परेशानी खड़ी कर दी। सीकरी में गाइड के बेटे को संक्रमण हुआ। उसके बाद उसके परिवार के 14 लोग भी जकड़ में आ गए। उनके संपर्क में आठ लोग आए थे, वह भी संक्रमित हो गए। सीकरी में एक युवक के कारण सौ से ज्यादा सैंपल लिए गए। इनकी रिपोर्ट का इंतजार है। 


जमातियों के कारण भी बढ़ी संख्या : 
जमातियों ने भी संक्रमण बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। 28 जमातियों और इनके संपर्क वाले लोगों के संक्रमित होने की संख्या 70 से भी ऊपर‌ निकल गई। जमातियों के संपर्क में 117 लोग आए थे। अभी अन्य लोगों की तलाश की जा रही है। तीन निजी अस्पतालों ने भी ये आंकड़ा बढ़ाया। भगवान टॉकीज क्षेत्र स्थित अस्पताल में भर्ती रही मंटोला की एक मुस्लिम महिला के संक्रमित होने के बाद अभी तक 23 लोग संक्रमित हो चुके हैं। उसके अलावा आगरा और अन्य जनपदों में इनसे जुड़े 400 से ज्यादा लोगों के सैंपल लिए गए हैं। इनकी भी रिपोर्ट अभी आनी है। नामनेर स्थित अस्पताल से जुड़े आठ और छिलीईंट रोड स्थित क्लीनिक से जुड़े पांच लोग संक्रमित हो चुके हैं। 


तीन की हो चुकी है मौत
आगरा। कोरोना संक्रमित तीन महिलाओं की मौत हो चुकी है। इनमें बसंत विहार कमला नगर की मनोरमा देवी की मौत हार्ट अटैक, शिकोहाबाद की सावित्री ‌देवी की फेफडों का कैंसर और कमलागंज (फर्रुखाबाद) की रुबीना की ब्रेनहेमरेज से मौत होना बताया गया है। हालांकि ये तीनों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।