सीएम योगी को मंत्रियों का सुझाव, चरणबद्ध खुले लॉकडाउन

लॉकडाउन खोलने को लेकर जिस तरह से केंद्र सरकार ने हाल ही में सभी राज्य सरकारों से सुझाव मांगे हैं ठीक उसी तरह प्रदेश सरकार भी रायशुमारी कर रही है।



लखनऊ। जानलेवा कोरोना वायरस संक्रमण से पूरी तरह बचाव के लिए प्रदेश सरकार लॉकडाउन खोलने को लेकर गहन मंथन में है। जिस तरह से केंद्र सरकार ने हाल ही में सभी राज्य सरकारों से सुझाव मांगे हैं, ठीक उसी तरह प्रदेश सरकार भी रायशुमारी कर रही है। 


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को पहले राज्य मंत्री और स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्रियों के साथ लॉकडाउन को लेकर बैठक की। इसमें लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने या खत्म कराने के लिए चरणबद्ध कदम उठाने के सुझाव सामने आए।


लोकभवन में आयोजित बैठक में योगी आदित्यनाथ ने पहले तो मंत्रियों से उनके प्रभार वाले जिले, गृह जिले व विभाग से संबंधित जानकारी ली। इसके बाद चार मई से लॉकडाउन खोलने या न खोलने के संबंध में सुझाव मांगे। राज्य मंत्रियों में ज्यादातर ने यह बात रखी कि लॉकडाउन बढ़ाया जाना चाहिए लेकिन, एक साथ एक माह या पंद्रह दिन की अवधि बढ़ाने का निर्णय न हो। समय-समय पर हालात की समीक्षा होती रहे और जरूरत अनुसार एक सप्ताह या जो भी तय हो, उसके आधार पर लॉकडाउन बढ़ाया जाए। इसके साथ ही किराना आदि आवश्यक वस्तु की दुकानों को अधिक समय तक खोला जाए, ताकि उनके बंद होने की चिंता में भीड़ न जुटे। इससे शारीरिक दूरी के नियम का पालन होता रहेगा।


वहीं, स्वतंत्र प्रभार वाले मंत्रियों की बैठक में चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोले जाने की बात प्रमुखता से उठी। मंत्रियों ने सुझाव दिया कि ग्रीन जोन को पहले खोल दिया जाए। इसके बाद फिर जैसे-जैसे ऑरेंज जोन और रेड जोन की स्थिति सुधरती जाए, वहां से लॉकडाउन की पाबंदी हटती जाए। इसी तरह मंगलवार को मुख्यमंत्री ने कैबिनेट मंत्रियों के साथ बैठक कर उनके विचार जाने थे। अब इन सभी सुझावों के आधार पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लॉकडाउन खोलने को लेकर अपना प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजेंगे।