सब्जी दुकानदारों ने मचाई लूट, मनमाने दाम पर बिकी सब्जियां

थोक मंडी से मंहगी सब्जी मिलने का हवाला देते हुए ग्राहकों से फुटकर दुकानदारों ने जमकर धनउगाही की।



लखनऊ । थोक मंडी बंद रहने की अफवाह से गुरुवार को भी राजधानीवासी उबर नहीं पाए। पुलिसकर्मियों की मनमानी से गुरुवार काे शहर के कई मार्गों से फुटकर सब्जी बेचने वाले ठेले गायब रहे। लोगों को बमुश्किल सब्जियां नसीब हुईं। इक्का-दुक्का जो ठेले चले भी उन्होंने जमकर लूट मचाई। थोक मंडी से मंहगी सब्जी मिलने का हवाला देते हुए ग्राहकों से फुटकर दुकानदारों ने जमकर धनउगाही की। सबसे ज्यादा मुनाफाखोरी गोमतीपार के क्षेत्रों में दिखी। लोग मंडी और जिला प्रशासन के अधिकारियों से ठेले और फुटकर दुकानों के न चलने और मनमानी वसूली की शिकायत करते नजर आए।


दोपहर में इस मुददे को शहर के प्रशासनिक अफसरों के सामने भी रखा गया। लेकिन शाम तक इसका कोई हल नहीं निकल सका। इंदिरानगर में टमाटर 80, प्याज 60 और आलू 40 रुपये किलो ब‍िका। राजधानी के इंदिरानगर क्षेत्र में जमकर फुटकर कारोबारियों ने लूट मचाई। सेक्टर-बी, सी एवं सेक्टर 14 एवं 15 आदि इलाकों में पुलिस के सामने ही सब्जी वाले मनमानी करते रहे। मुंशीपुलिया तक यही हाल था। स्थानीय लोगों ने बताया कि इंदिरानगर से मुंशीपुलिया तक पड़ने वाली सभी मंडियों में आलू 40, टमाटर 80, प्याज 60, करेला 60, भिंडी 80, परवल 120 रुपये किलो बेचा गया।


कमोवेश गोमतीनगर, अलीगंज, दुबग्गा काकोरी रूट पर भी मनमानी दिखी। जैसा ग्राहक दिखा बेच दिया की तर्ज पर सब्जी वालों ने जमकर मुनाफाखाेरी की। रकाबगंज और मशकगंज इलाके में भी दुकानदार मनमानी वसूली से बाज नहीं आए। शहर के कई प्रमुख फुटकर बाजार के दुकानदारों ने भी लूट मचाए रखी। आटा भरपूर होने के बाद भी 40 रुपये किलो बिका पूरी ठसक के साथ इन सभी क्षेत्रों में अधिकतम 27 रुपये तक बिकने वाला आटा चालीस रुपये किलो बेचा गया। हाल यह था कि लोग आटा मांग रहे हैं, सामने ही आटे की बाेरियां रखी हैं लेकिन दुकानदार देने को तैयार नहीं।


शिकायतों और जानकारियों के लिए बजते रहे अधिकारियों के फोन


अधिकारियों ने बताया कि गोमतीपार के क्षेत्रों से फुटकर कारोबार, ठेले न चलने की शिकायतें बराबर आती रहीं। इनमें गोमतीनगर, लोहिया पार्क के आसपास की कालोनियां, अलीगंज और इंदिरानगर क्षेत्रों से खूब शिकायतें आईं। लोग सीधे कह रहे थे कि पुलिस ठेले वालों को खदेड़ रही है। काकोरी क्षेत्र में पुलिस ने न केवल दुकानदारों और बल्कि किसानों पर भी डंडा चलाया। ठेले न चलने दिए जाने को लेकर शिकायतें आई हैं। इसे गुरुवार की बैठक में उच्चाधिकारियों के समक्ष रखा भी गया है। ऐसे नाजुक मौके पर किसी की भी मनमानी नहीं चलने दी जाएगी। संजय सिंह, सचिव मंडी उत्पादन समिति