रामायण के इस पात्र से वीरेंद्र सहवाग ने ली बल्लेबाजी की प्रेरणा

वीरेंद्र सहवाग ने धारावाहिक रामायण से अगंद के पैर हिलाने वाले सीन की तस्वीर शेयर करते हुए अपनी बल्लेबाजी की प्रेरणा के बारे में बताया है।



नई दिल्ली। पूर्व भारतीय धाकड़ बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग को उनकी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए जाना जाता है। टेस्ट क्रिकेट में दो बार तिहरा शतक जड़ने वाले सहवाग एक बार मैदान पर जम जाएं  फिर 
बड़े से बड़े गेंदबाज के लिए उन्हें आउट करना नामुमकिन सा हो जाता था। सहवाग की धाकड़ बल्लेबाजी से आज के युवा क्रिकेटर भी प्रेरणा लेते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि सहवाग ने अपनी इस बेखौफ बल्लेबाजी की प्रेरणा कहां से ली है। सहवाग ने टि्वटर पर खुद अपनी बैटिंग इंस्पिरेशन का खुलासा किया है।


सोशल मीडिया पर अपनी मजेदार पोस्ट से सभी का मनोरंजन करने वाले वीरेंद्र सहवाग ने एक बार फिर से पोस्ट शेयर की। इस बार उन्होंने अपनी पोस्ट के जरिये अपनी बैटिंग इंस्पिरेशन के बारे में बताया है।


वीरेंद्र सहवाग ने धारावाहिक रामायण से अगंद के पैर हिलाने वाले सीन की तस्वीर शेयर करते हुए अपनी बल्लेबाजी की प्रेरणा के बारे में बताया है। वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट करते हुए लिखा- तो मैंने यहां से अपनी बल्लेबाजी की प्रेरणा ली थी। पैर हिलानी मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है... अंगद जी रॉक्स।


बता दें कि दाएं हाथ के इस विस्फोटक बल्लेबाज ने 104 टेस्ट में 49.3 के धमाकेदार औसत से 8586 रन बनाए। सहवाग ने 251 वनडे मैचों में 35 की औसत से 8273 रन बनाए। सहवाग ने अपने इंटरनेशनल करियर में कुल 38 शतक बनाए।