लखनऊ में तीन और मरीजों में कोरोना, संक्रमितों की संख्या पहुंची 37

राजधानी में नौ मरीजोंं में कोरोना 80 लोगों के सैंपल भेजे। तीन तबलीगी जमात व पांच मरीज के संपर्क में आने से से हुए संक्रमित। 



लखनऊ। राजधानी में कोरोना वायरस का प्रसार बढ़ रहा है। हर रोज नए मरीज सामने आ रहा हैं। मंगलवार को तीन और मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है, वहीं तमाम में खतरा मंडरा रहा है। ऐसे में सैंपल जुटाकर जांच के लिए केजीएमयू भेज दिए गए हैं।


मंगलवार को तीन मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसमें दो मरीज सदर के हैं। वहीं, दूसरा नजीराबाद के नया गांव निवासी है। सदर क्षेत्र कोरोना का प्रमुख हॉट स्पॉट है। यहीं की मस्जिद से तब्लीगी जमात के कई लोग पकड़े गए थे। ऐसे में क्षेत्र के कई लोग संक्रमण की चपेट में आ गए। अभी तक मरीजों में वायरस की पुष्टि होने का सिलसिला जारी है। सदर क्षेत्र से 12 तब्लीगी व अब तक दस लोगों में कोरोना की पुष्टि हो चुकी है। वहीं, नया गांव में भी अब संक्रमण के विस्तार का खतरा बढ़ गया है। इस दौरान सीएमओ की टीम ने 160 संदिग्ध लोगों के सैंपल संग्रह कर जांच के लिए भेजे हैं। इनकी रिपोर्ट बुधवार को आएगी। ऐसे में राजधानी के मरीजों संख्या 37 हो गई है। इसके अलावा 19 गैर जनपद के तबलीगी जमात के पॉजिटिव भर्ती हैं। वहीं कुल तब्लीगी जमात के 22 पॉजिटिव हैं।


सात हजार से अधिक घरों का सर्वे


हेल्थ टीम ने मंगलवार को कटरा बाग मक्का, यहीगंज आदि क्षेत्रों में घर-घर सर्वे किया। इस दौरान तीन सदस्यीय 88 टीम व 35 सुपरवाइजर लगाए गए। इसमें 7934 घरों का भ्रमण किया। इस दौरान 39030 लोगों के स्वास्थ्य व अन्य ब्योरा जुटाया गया।


सोमवार को नौ मरीजों में हुई थी कोरोना वायरस की पुष्‍ट‍ि


सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के मुताबिक, रविवार को 66 सैंपल जांच के लिए केजीएमयू भेजे गए थे। सोमवार को नौ मरीजों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। यह मरीज शहर के अस्पतालों में आइसोलेट कर दिए गए हैं। इनमें एक महिला व आठ पुरुष हैं। इसमें से तीन जमाती, पांच सदर व एक नजीराबाद के नया गांव निवासी मरीज है। अब इन क्षेत्रों में संक्रमित मरीजों के संकर्प में आए लोगों की तलाश की जा रही है। 80 संदिग्ध लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। केजीएमयू के प्रवक्ता डाॅ सुधीर के मुताबिक रविवार रात को कुल 740 नमूनों की जांच की गई। इसमें 40 लोग कोरोना पाॅजिटिव पाया गया। इसमें 36 आगरा के मरीज हैं। इसके अलावा पीजीआइ, लोहिया संस्थान में भी विभिन्न जनपदों के मरीजों की जांच जारी है।


पहली बार लखनऊ के एक साथ नौ मरीज


राजधानी में अभी तक 12 केस एक दिन में सर्वाधिक कोरोना के पाए गए हैं। यह सभी तबलीगी जमात के रहे। साथ ही सुल्तानपुर निवासी है। वहीं सोमवार को लखनऊ के लोगों में एक दिन में नौ लोगों में पहली बार कोरोना वायरस की पुष्टि हुई जबक‍ि मंगलवार को आई र‍िपोर्ट में चार नए मामले सामने आने आए हैं।  ऐसे में राजधानी में 38 कोरोना के मरीज हो गए। इसके अलावा 19 तबलीगी जमात से जुड़े मरीज पॉजिटिव भर्ती हैं।


मेडवेल और चरक डायग्नोस्टिक सेंटर को बंद करने का आदेश


केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में जिस मरीज के कोरोना पॉजिटिव निकलने पर हड़कंप मचा है, वह यहां आने से पहले बर्लिंगटन चौराहा स्थित मेडवेल हाॅस्पिटल और चौक के चरक डाॅयग्नोस्टिक सेंटर भी गया था। यह जानकारी मिलने के बाद सीएमओ डॉक्टर नरेंद्र अग्रवाल ने अस्पताल व डायग्नोस्टिक सेंटर को बंद करने का आदेश दे दिया है। दोनों जगहों के सभी स्टाफ को क्वॉरेंटाइन भी कराया जा रहा है। इन सभी के भी नमूने कोरोना जांच के लिए लिए भेजे जाएंगे। अमीनाबाद के नजीराबाद में रहने वाले एक बुजुर्ग को एक अप्रैल को बुखार आया। परिवारीजनों ने इलाज स्थानीय स्तर पर शुरू करवाया तो हालत में सुधार महसूस हुआ। फिर सूखी खांसी आने पर नौ अप्रैल को मेडवेल हाॅस्पिटल ले गए।


डॉक्टरों ने कोरोना के लक्षण होने के संदेह पर किसी सरकारी अस्पताल में जाने की सलाह दी। एक्सरे करवाने को भी बोला। फिर वह चरक डाॅयग्नोस्टिक सेंटर गया। एक्सरे के बाद घर चला गया। फिर 11 अप्रैल की शाम तबीयत बिगड़ी तो ट्रॉमा पहुंचा। सीएमओ डॉक्टर नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि मरीज की मेडिकल हिस्ट्री लेने पर यह जानकारी हासिल हुई, जिसके बाद एहतियातन यह कदम उठाया गया है। दोनों केंद्रों को तत्काल बंद करने का निर्देश दे दिया गया है। दोनों जगहों के पूरे स्टाफ को क़वारंटाइन करवा दिया गया है।  


मेट्रो का संचालन बंद होने की नई तिथि तीन मई हुई


राजधानी में चौधरी चरण सिंह से मुंशी पुलिया के बीच चलने वाली मेट्राें का संचालन अब तीन मई तक पूरी तरह बंद करने का निर्णय किया गया है। अभी तक मेटो 22 मार्च से बंद चल रही थी। उत्‍तर प्रदेश मेट्राें रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीएमआरसी) ने मेटो परिसर में चलने वाले खानपान के स्‍टॉल भी बंद करने का निर्णय किया है। यही नहीं स्‍टेशनों के नीचे चलने वाले दो व चार पहिया वाहन स्‍टैंड भी पूर्व की भांति बंद रहेंगे।