कसाईबाड़ा की नाकेबंदी में सेंध, गोपनीय रास्ते से दूसरे इलाकों में जा रहे लोग

कैंट हॉट स्पॉट इलाके में पुलिस की नाक के नीचे हो रही चूक। कसाई बाड़े के भीतरी रास्ते से लकड़ी मोहाल होकर निकल रहे लोग।



लखनऊ । प्रदेश के सबसे बड़े हॉट स्पॉट इलाके कैंट के कसाई बाड़ा में बड़ी संख्या में कोरोना पॉजीटिव संक्रमित मिलने के बावजूद यहां एक बड़ी चूक सामने आ रही है। सील इलाके के भीतर बिना मास्क के लोग घूम रहे हैं। सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ रही हैं। ड्रोन के धोखा देकर गोपनीय रास्तों का इस्तेमाल किया जा रहा है। घरों में काम करने वाले कुछ लोग जहां हाता रामदास के डेरा से निकलकर कसाई बाड़ा आ रहे हैं। वहीं कसाई बाड़ा की ओर से राशन की दुकानों पर भी लोग पहुंच रहे हैं।


छावनी परिषद प्रशासन की ओर से मध्य यूपी सब एरिया मुख्यालय और पुलिस आयुक्त को सील इलाकों के भीतर सोशल डिस्टेंस का पालन न करने को लेकर पत्र भी लिखा है। दरअसल गुरुवार को जब कसाई बाड़ा के सील इलाकों में छावनी परिषद के कर्मचारी नगर निगम व फायर ब्रिगेड के साथ सैनिजाइजर करने पहुंचे तो वहां लोग बिना मास्क पहने खुले आम सड़क पर घूमते नजर आए।


पुलिस ने भानु चौराहा से अलीजान मस्जिद, अटल रोड, एमजी मार्ग पर शिव नारायण पेट्रोल पंप के पास बैरिकेटिंग कर दी है। जिससे लोग बाहर न निकल सके। लेकिन कसाई बाड़ा से जीटीवी सारेगामा की उपविजेता पूनम यादव के घर के सामने वाली लकड़ी मोहाल की गली से दो नंबर सामूहिक शौचालय की गली से बेकरी व गोला बाजार होते हुए लोगों की हाता रामदास तक आवाजाही हो रही है। यह वह रास्ता है जिस पर कोई भी बैरिकेटिंग व पुलिसकर्मी तैनात नहीं हैं। इसी रास्ते से रेल लाइन से होते हुए लोग पुराना किला की ओर भी निकल रहे हैं। हाता रामदास के डेरे में रहने वाली महिलाएं कसाई बाड़ा के कुछ घरों में घरेलू काम करती हैं। इसी रास्ते से यह महिलाएं कसाई बाड़ा आ रही हैं।