हॉटस्पॉट सील होने के बाद यहां नहीं चली पुलिस की सख्ती


कानपुर। उत्तर प्रदेश के जिन 15 जिलों में हॉटस्पॉट चिंहि्त किए गए हैं उनमें से एक कानपुर शहर भी है। यहां 13 ऐसे इलाके हैं जिन्हें आज पूरी तरह सील कर दिया गया था। इसके बाद भी शहर के कुछ सील किए गए इलाकों में पुलिस की खास सख्ती नहीं दिखी, रोक के बाद भी लोग बाहर निकलते रहे।


 शहर की मुस्लिम अधिसंख्य आबादी वाले 13 हॉट स्पॉट में तो सख्ती का असर दिखा लेकिन अन्य क्षेत्रों में आवाजाही बनी रही। शहर के बीच के 10 क्षेत्रों में एक किलोमीटर के दायरे को पूरी तरह सील किया गया था। इससे लोगों को दूध, सब्जी आदि की दिक्कतों का सामना करना पड़ा। तबलीगी जमात के मरकज (केंद्र) हलीम प्राइमरी के एक किलोमीटर के दायरे की गलियों को भी बैरीकेडिंग कर बंद कर दिया गया था। यहां पैदल तो लोग इधर-उधर जा पाए लेकिन एक भी वाहन नहीं निकल सका। यहां ऑनलाइन जो भी सामग्री देने आए उन्हें रोक लिया गया। वे पैदल जाने को राजी नहीं हुए और लौट गए।


कुलीबाजार की हाजी इनायत मस्जिद और शेख लालमन मस्जिद और हाती वाली मस्जिद के आसपास का क्षेत्र भी सील किया गया था। बेहद घनी आबादी के कारण काफी संख्या में लोग यहां सड़क पर बैठे या चलते फिरते दिखे। सुफ्फा मस्जिद और बिलाल मस्जिद बाबूपुरवा के आसपास का क्षेत्र भी पूरी तरह बंद रहा। यहां भी दूध-सब्जी की सप्लाई प्रभावित रही। चमनगंज में ड्रोन से निगरानी की गई। स्वास्थ विभाग की टीमें भी आईं और नामचीन लोगों के सैंपल लिए। शब-ए-बराअत का दिन होने के कारण लोगों में बेचैनी थी और वह दूध आदि खरीदने के लिए पैदल इधर-उधर जा रहे थे।