हॉटस्पॉट एरिया में करें संदिग्ध लोगों की जांच : सीएम योगी


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना प्रभावित जिलों के हॉटस्पॉट क्षेत्रों में सीलिंग की कार्रवाई को प्रभावी तरीके से लागू करने के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने सील किए गए क्षेत्रों में कोरोना के संदिग्ध मामलों की खास निगरानी के लिए कहा है। साथ ही प्रभावित क्षेत्रों खासकर हॉटस्पॉट एरिया में किसी के भी कोरोना संदिग्ध होने की आशंका पर तत्काल उसकी जांच कराने के निर्देश दिए हैं।


कोरोना आपदा से निपटने के लिए राज्य स्तर पर बनायी गई 11 टीमों का नेतृत्व करने वाले अधिकारियों के साथ शुक्रवार को लॉकडाउन की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना को निश्चित समयसीमा में नियंत्रित करने के लिए ज्यादा से ज्यादा संदिग्ध व्यक्तियों की जांच किए जाने को जरूरी बताया। पश्चिमी उप्र में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री ने वहां की खास निगरानी करने और नोएडा, ग्रेटर नोएडा व सहारनपुर में कोविड-19 की जांच की सुविधा स्थापित करने का निर्देश दिया। प्रदेश के हर जिले में कोरोना की जांच के लिए समयबद्ध तरीके से सैंपल कलेक्शन सेंटर स्थापित करने पर भी मुख्यमंत्री ने जोर दिया।


अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हॉटस्पॉट क्षेत्रों को पूरी तरह सील करने और इन इलाकों में आवागमन को पूरी सख्ती से प्रतिबंधित करने का निर्देश दिया। इन क्षेत्रों में को सील करने की कार्रवाई स्वास्थ्य विभाग, प्रशासन और पुलिस के जरिये लागू कराने के लिए कहा। सील किए गए हॉटस्पॉट इलाकों में केवल मेडिकल, सैनिटाइजेशन टीमों और डोरस्टेप डिलिवरी से जड़े व्यक्तियों को ही आने-जाने की अनुमति दिए जाने के निर्देश दिए गए।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिन जिलों में कोरोना के मामले नहीं आए हैं, वहां क्वारंटाइन किए गए संदिग्ध मरीजों की जांच करा के संवेदनशील मामलों को आइसोलेट किया जाए। साथ ही संस्थागत क्वारंटाइन की अवधि पूरी कर चुके व्यक्तियों को 14 दिन के होम क्वारंटाइन में भेजने के लिए कहा।


मास्क पहनना हुआ अनिवार्य


अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश में किसी के लिए भी घर से बाहर निकलने पर मास्क लगाना अब अनिवार्य कर दिया गया है। पहले इसे एडवाइजरी के तौर पर जारी किया गया था, लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर अब इस बारे में शासनादेश जारी कर दिया गया है।


लेवल-3 अस्पतालों की संख्या बढ़ाएं


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में कोरोना उपचार के लिए स्थापित लेवल-1, 2 और 3 अस्पतालों को और सुदृढ़ करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने एल-3 अस्पतालों की संख्या बढ़ाने को भी कहा। इसके अलावा कोरोना आपदा में संवेदनशील क्रियाकलापों से जुड़े कर्मियों के लिए पर्याप्त मात्रा में पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट और एन-95 मास्क आदि उपलब्ध कराने पर भी जोर दिया।


आयुष विभाग भी विकसित करे एप


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आयुष विभाग को कोविड-19 संक्रमण से बचाव व उपचार के लिए मोबाइल एप विकसित करने का निर्देश दिया। साथ ही अधिकारियों से राज्य में 'आरोग्य सेतु' एप को डाउनलोड किए जाने के बारे में जानकारी प्राप्त की।


राशन वितरण और बैंकों में हो सोशल डिस्टेंसिंग


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फिर इस पर जोर दिया कि राशन वितरण और बैंकों में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। लॉकडाउन के दौरान सभी को आवश्यक वस्तुएं सुलभ कराने के लिए कहा।


कोविड केयर फंड में विदेशी मदद की करें व्यवस्था


यूपी कोविड केयर फंड में विदेश से भी सहायता दिए जाने की पेशकश पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए भी व्यवस्था करने का निर्देश दिया। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि कोविड केयर फंड में विदेशी सहायता के लिए एफसीआरए से स्वीकृति ली जा रही है।