गुरुग्राम से निजामुद्दीन मरकज में शामिल 22 की पहचान हुई


गुरुग्राम। दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में जाने वालों की संख्या गुरुवार को बढ़कर 22 हो गई। जिला प्रशासन ने इन सभी को 14 दिन के क्वारंटाइन में रखने का निर्देश दिया है। स्वास्थ्य विभाग ने सभी के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे हैं। इसके अलावा गुरुग्राम से सटे मेवात जिले से 554 लोग निजामुद्दीन मरकज गए थे। वहां के प्रशासन ने भी सभी को क्वारंटाइन में भेज दिया है। इसमें 57 विदेशी भी शामिल हैं। गुरुग्राम में खोजे गए 22 लोगों को सेक्टर-10 स्थित नागरिक अस्पताल के अलावा सेक्टर-9 कॉलेज में बनाए गए आईसोलेशन केंद्र में रखा गया है। ये सभी गुरुग्राम के रहने वाले हैं। 


इसमें ज्यादातर शीतला कॉलोनी, हंस एंक्लेव, देवीलाल कॉलोनी और पटौदी के हैं। गुरुग्राम के पुलिस आयुक्त मो. अकिल ने कहा, प्रशासन पूरी तरह से सतर्क हैं। जिले में नाकों की संख्या बढ़ाई गई है, इसके अलावा पर्याप्त और सही ढंग से निगरानी की जा रही है। उन्होंने कहा कि दो व्यक्ति 22 मार्च के आसपास मरकज गए थे, बाकी ने पहले वहां की यात्रा की है। उन्होंने कहा कि आगे जो और सामने आएगा उसे क्वारंटाइन किया जाएगा।


554 लोग गए थे दिल्ली


जिला नूंह में विभिन्न जमातों से आए हुए 554 लोगों को जिले में बनाए गए चार (एकान्तवास) सेंटरों में रखा गया है। गुरुवार को उपायुक्त पंकज ने बताया कि जिले में निजामुद्दीन तबलकी जमात से आए  भारतीय नागरिक को राजकीय पोलीटेक्नीक मालब के एकान्तवास सैंटर में रखा गया हैं जिनकी संख्या 195 तथा निजामुद्दीन तबलकी जमात से आए विदेशाी मूल के 57 लोगों को रहेना (पल्ला) समशुदीन होस्टल में रखा हुआ है। 


उन्होंने बताया कि दूसरी जमातो से आए 302 लोगों में से 200 लोगों को राजकीय कन्या महाविद्यालय सालाहेड़ी एकान्तवास सेन्टर से तथा 102 नागरिको को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय फिरोजपुर-नमक के एकान्तवास सेटर में रखा हुआ है।  सिविल सर्जन डा. विरेन्द्र यादव ने बताया कि निजामुद्दीन जमात से आए नागरिक जो मालब एकान्तवास सेन्टर में रखे हुए है उन लोगों में से 9 लोगों को गत रात्रि थोड़ी समस्या आई थी, जिनका सैम्पल लेकर पीजीआई रोहतक भेज दिया गया है और उक्त 9 व्यक्यिों को मांडीखेड़ा स्थित अलाफिया अस्पताल में आईसोलन बार्ड में दाखिल किया हुआ है।


सीआईडी भी सतर्क


दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में बड़े स्तर पर लोगों के इकट्ठा होने के बाद राज्य की सीआईडी भी सतर्क हो गई है। गुरुग्राम में 50 स्थानों पर नमाज पढ़ी जाती है, सीआईडी शुक्रवार को सभी प्रमुख स्थानों पर नजर रखेगी और देखेगी कि कोई जमावड़ा तो नहीं होता है, हालांकि पिछले शुक्रवार को नमाज घरों में पढ़ी गई थी। कोरोना वायरस को संक्रमण को देखते हुए मुस्लिम समुदाय के मौजिज लोगों ने घर पर ही नमाज पढ़ने की अपील की है। 


प्रधानमंत्री के संदेश पर नजर 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार सुबह नौ बजे वीडियो संदेश जारी करेंगे। गुरुवार को यह जानकारी आने के बाद जिला प्रशासन में इसकी चर्चा रही। अधिकारियों ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वीडियो संदेश में अगर कोई नया सुझाव और निर्देश आता है तो जिले में उसका कड़ाई से अनुपालन किया जाएगा।