बिना मास्क पहनेे निकलने पर लगेगा जुर्माना, थूकने पर भी दंड

लॉकडाउन में कम्यूनिटी किचन में कार्यरत कर्मचारियों की जांच होगी लॉक डाउन का कड़ाई से पालन करने को लेकर हुई बैठक। 



लखनऊ । अब अगर को बिना मास्क के घर से बाहर निकला तो उसको जुर्माना भरना होगा इनके अलावा थूकने पर भी दंड का भागीदार होगा। कलेक्ट्रेट सभागार में आज मण्डलायुक्त मुकेश मेश्राम व जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश द्वारा कोविड -19 के संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से एक महत्त्वपूर्ण बैठक आहूत की गई। बैठक में सहायक पुलिस आयुक्त नवीन अरोड़ा, मुख्य विकास अधिकरी मनीष बंसल और नगर आयुक्त श्री इन्द्रमणि त्रिपाठी, मौजूद थे इस बैठक में तमाम निर्णय लिये गए।


जिलाधिकारी ने कहा कि शहर की गलियों में अभी भी पूर्णयता लॉक डाउन का अनुपालन नही हो पा रहा है। इस हेतु निर्देश दिया कि सभी क्षेत्रों में धार्मिक स्थलों के लाउडस्पीकर के माध्यम से लॉक डाउन का कड़ाई से अनुपालन के लिए एनाउंसमेंट कराया जाए। उन्होंने कहा कि अनावश्यक घूमते हुए लोगो पर FIR दर्ज कराई जाएगी। बिना मास्क लगाए निकलने पर जुर्माना किया जाएगा एवं सड़क, गलियों एवं सार्वजनिक स्थलों पर पान मसाला, गुटखा तम्बाकू आदि खा कर थूकना पूर्णतया प्रतिबंधित किया गया है, यदि कोई ऐसा करता है तो उसके विरुद्ध नगर निगम के द्वारा 5000 रुपये का जुर्माना किया जाएगा।


जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सदर बाजार स्थित कम्युनिटी किचन में कार्यरत समस्त कर्मचारियों की स्क्रीनिंग कराई जाए और उक्त किचन के सम्पर्क में आए लोगो को भी 14 दिनों के लिए कवारेन्टीन करने के निर्देश दिए। समस्त हाट स्पॉट के 5 किलोमीटर की परिधि में सेनिटाइज़ेशन और मेडिकल चेकअप का कार्य सुनिश्चित कराया जाए।


जिलाधिकारी के मुताबिक संक्रमण के दृष्टिगत ज़िला प्रशासन, पुलिस प्रशासन तथा नगर निगम या आपदा के कार्यो में लगे हुए समस्त अधिकारीगणो एवं कर्मचारियों का रेपिड रेस्पॉन्स टेस्ट कराया जाए। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रायः यह देखने को मिला रहा है कि बैंकों और किराना आदि की दुकानों पर अधिक लोग इकट्ठा हो रहे है। अतः उक्त स्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से अनुपालन कराने हेतु विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। पहले भी समस्त बैंक प्रबंधकों को सीसीटीव कैमरे व स्टाफ लगा कर सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराने के निर्देश दिए गए थे। यदि अव्यवस्था पाई जाती है तो सम्बंधित के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।


जिलाधिकारी ने समस्त प्राइवेट हॉस्पिटल को कड़े निर्देश दिए कि कोई भी मरीज जिसको कोरोना से मिलते जुलते लक्षण है उनको एडमिट नही करेंगे और ऐसे मरीज़ों की सूचना तुरन्त मुख्य चिकित्साधिकारी व शासकीय हॉस्पिटल को दे कर उनको वहां शिफ्ट कराएंगे।


जिलाधिकारी ने बताया कि 20 अप्रैल से खुलने वाले कार्यालयों में निरन्तर सेनिटाइज़ेशन कराना होगा और फ़ोटो सहित आख्या नगर आयुक्त को प्रेषित करनी होगी। साथ ही कार्यालयों में डोर मैट हटवाने के निर्देश दिये । जिलाधिकारी ने बताया कि हाट स्पॉट क्षेत्र में रहने वाले लोगो को जो पास जारी किए गए थे वह सभी पास तत्काल प्रभाव से निरस्त किये जाते है। हाट स्पॉट क्षेत्र में रहने वाले लोगो को कही भी आने जाने की अनुमति नही होगी। हाट स्पॉट क्षेत्र में अभी तक कुल 75 कैमरे लगा दिए गए है। जिसकी मॉनिटरिंग स्मार्ट सिटी के आईटीएमएस कन्ट्रोल रूम से की जा रही है।