बिजली बिल का भुगतान अब 30 अप्रैल तक

बिजली उपभोक्ताओं को यूपीपीसीएल ने एक मार्च से 14 अप्रैल के बीच बने या बनने वाले बिजली बिलों के भुगतान की तारीख बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दी है।



लखनऊ । कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते लगे लॉकडाउन के कारण विद्युत उपभोक्ताओं को होने वाली असुविधा को देखते हुए उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (UPPCL) ने एक मार्च से 14 अप्रैल के बीच बने या बनने वाले बिजली बिलों के भुगतान की तारीख बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दी है। इस आदेश से उपभोक्ताओं को देय तारीख तक बिजली बिल में मिलने वाली एक प्रतिशत की छूट का लाभ मिलेगा, जबकि 30 अप्रैल तक लगने वाले विलंब भुगतान सरचार्ज से भी छूट मिलेगी।


उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन के मद्देनजर पावर कॉरपोरेशन ने बीते दिनों उपभोक्ताओं के परिसरों से मीटर रीडिंग पर अप्रैल तक रोक लगा दी थी। इस अवधि के सभी बिल तीन महीने के औसत उपभोग के आधार पर बनाए जाएंगे। वहीं लॉकडाउन के कारण किसानों की सुविधा का ख्याल करते हुए ऊर्जा विभाग ने किसान आसान किस्त योजना को भी 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया है।


एक फरवरी को शुरू की गई यह योजना 31 मार्च तक के लिए लागू की गई थी। इसके तहत निजी नलकूपों के बकाया बिजली बिलों का भुगतान आसान किस्तों में ब्याज माफी के साथ करने का प्रावधान है। योजना का लाभ लेने वाले किसानों का 31 जनवरी 2020 तक का ब्याज माफ किया जा रहा है। उन्हें छह आसान किस्तों में बिल का भुगतान करने की सुविधा दी गई है। इस योजना का लाभ अब तक 3,61,215 किसानों को मिल चुका है। योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 1912 पर संपर्क किया जा सकता है।


बिजली बिल के ऑनलाइन भुगतान पर कोई शुल्क नहीं


बता दें कि बिजली बिलों के ऑनलाइन भुगतान पर उपभोक्ताओं को अब कोई शुल्क नहीं देना होगा। कोरोना के मद्देनजर लॉकडाउन को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर पावर कारपोरेशन ने पहले ही नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। अब तक डेबिट व क्रेडिट कार्ड से भुगतान पर बैंकिंग कंपनियों द्वारा शुल्क लिया जा रहा था लेकिन, अब इस शुल्क का भुगतान पावर कारपोरेशन करेगा। विद्युत उपभोक्ता अपने बिजली बिलों का ऑनलाइन भुगतान ई-निवारण ऐप के जरिये कर सकते हैं। इसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। इसके अलावा पावर कारपोरेशन की वेबसाइट पर भी बिल जमा किया जा सकता है।