सीएम योगी ने रातभर जागकर फंसे हुए यात्रियों के लिए उपलब्ध कराई एक हजार बसें


लखनऊ। लॉकडाउन के बीच दूसरे राज्यों से पलायन कर रहे लोगों के लिए योगी सरकार ने एक हजार रोडवेज बसों की व्यवस्था की है। इसके लिए सीएम योगी ने शुक्रवार रात भर जाग कर नोएडा, गाजियाबाद ,बुलंदशहर, अलीगढ़, हापुड़ आदि इलाक़ों में बसें लगाकर मजदूरों को गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था कराई। रात में ही मजदूरों और बच्चों के लिए भोजन का इंतज़ाम कराया गया। वहीं सीएम योगी ने तत्काल परिवहन विभाग के अधिकारी, ड्राइवर और कंडक्टरों को ड्यूटी पर बुलाने का निर्देश दिया।


दिल्ली से आए लोगों ने बताया कि दिल्ली सरकार ने बिजली-पानी के कनेक्शन काट दिए गए। भोजन, दूध नहीं दिया गया।   दिल्ली सरकार के अधिकारी बक़ायदा एनाउंसममेंट कर अफ़वाह फैलाते रहे कि यूपी बार्डर पर बसें खड़ी हैं, जो यूपी और बिहार ले जाएंगी। बहुत सारे लोगों को मदद के नाम पर डीटीसी की बसों से बार्डर तक पहुंच कर छोड़ दिया।


2 घंटे में लगभग 200 बसें प्रस्थान कर रही 
उत्तर प्रदेश सरकार के निर्देश पर यूपी परिवहन दिल्ली की सीमा से जुड़े लोगों को उनके घर पहुंचाने के लिए बसें चला रहा है। इसके लिए बसों को नोएडा और गाजियाबाद पहुंचाया जा रहा है। आज सुबह 8 बजे से हर 2 घंटे में लगभग 200 बसें प्रस्थान कर रही है। ये बसें 28 और 29 मार्च को चलेंगी। इन बसों को लेने के लिए दिल्ली बॉर्डर पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है।


कुछ बसें जो पहले ही गाजियाबाद नोएडा और सीमावर्ती क्षेत्रों से निकल चुकी हैं, वे यूपी में विभिन्न गंतव्य के रास्ते पर हैं। सरकार ने अब इन सभी यात्रियों को अपने गंतव्य तक पहुंचने की अनुमति देने का निर्णय लिया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी जिलों के डीएम, एसपी और एसएसपी को इन बसों को न रोके जाने का निर्देश दिया है।