लॉकडाउन में आप अपने बच्चे का ऐसे करें मनोरंजन

बच्चों को घर में ही करें शिक्षित लॉकडाउन में घर में पढ़ाएं भी और सिखाएं भी



देश और दुनिया में कोरोना वायरस का कहर इतना ज्यादा बढ़ गया है कि इससे बचाव के लिए देश और दुनिया की सरकारों ने एक मात्र रास्ता तलाशा है, वो है लॉकडाउन। कामकाजी लोगों से लेकर बच्चे तक सबको घर में रहने की हिदायत दी गई है। इस लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर बच्चों पर पड़ा है। पैरेंट्स बच्चों की हेल्थ से लेकर उनकी पढ़ाई और मनोरंजन को लेकर काफी चिंतित हैं। वर्किंग लोगों के लिए वर्क फ्रॉम हॉम नीरस है, ऐसे में बच्चे की जिम्मेदारी उनके सामने सबसे बड़ा सवाल है। 


ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चे इस मुश्किल दौर में भी सेहतमंद और खुश रहे और साथ ही कुछ सीखे भी, तो हम आपको कुछ बेस्ट टिप्स बता रहे हैं, जिनका इस्तेमाल करके आप अपने बच्चे को खुश रख सकते हैं। इससे उसके खाली वक्त का सही इस्तेमाल भी हो सकेगा। 



  • बच्चों को किताबें दें- आप चाहती हैं कि आपका बच्चा स्कूल जाए बिना भी किताबों में दिलचस्पी रखे, तो उसकी रुचि किताबों में पैदा करें। उसे खाली समय में किताब पढ़ने के लिए कहें, ताकि उसका बौद्धिक और मानसिक विकास हो। बच्चा किताबें पढ़ेगा तो नई चीजें सीखेगा। किताब या स्टोरी पढ़ाने के बाद बच्चे से फीडबैक जरूर लें। किताब पढ़ने से बच्चे की रीडिंग पावर इंप्रूव होगी, साथ ही उसकी नॉलिज भी बढ़ेगी।

  • क्राफ्ट आइडिया - आपके बच्चे के लिए ये समय काफी कीमती साबित हो सकता है, अगर आप उसका सदुपयोग करें। बच्चे को तरह-तरह के क्राफ्ट बनाना सीखाएं। ये कारीगरी आपके बच्चे को क्रिएटिव बनाएगी। आपके बच्चे की रुचि पेटिंग करने में है, तो उसे तरह-तरह की पेंटिंग बनाने में मदद करें। इस तरह आपके बच्चे का और आपका वक्त भी अच्छा गुजरेगा, साथ ही घर में बच्चे को दोस्तों की कमी भी नहीं खलेगी।

  • पुराने खेल- बच्चे का वक्त अच्छा गुजारने के लिए उसके साथ केरम बोर्ड, स्नैक एंड लेडर, मोनोपोलो और लूडो खेलने में उसका साथ दें। बच्चे के साथ इस खेल में आपका भी वक्त अच्छा गुजर जाएगा।

  • एजुकेशनल प्रोग्राम- बच्चों की नॉलिज बढ़ाने के लिए आप Netflix and YouTube की मदद से पढ़ा सकते हैं। ये मुश्किल समय भी अच्छे से गुजर सकता है, अगर आप थोड़ी समझदारी से काम लें।

  • बच्चों को घर के काम में लगाएं- आप बच्चों का बचा हुआ समय घर के काम में लगाकर भी समय का सदुपयोग करना सिखा सकते हैं। आप घर की सफाई, किचन का थोड़ा काम कराकर उन्हें आत्मनिर्भर बना सकते हैं।