कोरोना वायरस फैलाने के आरोप पर चीन ने दी सफाई, कहा- हमने नहीं बनाया...!

अमेरिका इस वायरस को दुनियाभर में फैलाने के लिए चीन को दोषी ठहरा रहा है। हालांकि चीन इन आरोपों से इंकार करता रहा है। चीन उल्‍टा अमेरिका पर कोरोना वायरस को फैलाने का आरोप लगा रहा है



बीजिंग । विश्‍वभर में कोरोना वायरस (COVID19) बढ़ते प्रकोप के बीच ये सवाल भी उठ रहा है कि आखिर ये जानलेवा वायरस आया कहां से? अमेरिका इस वायरस को दुनियाभर में फैलाने के लिए चीन को दोषी ठहरा रहा है। हालांकि, चीन इन आरोपों से इंकार करता रहा है। चीन उल्‍टा अमेरिका पर कोरोना वायरस को फैलाने का आरोप लगा रहा है। इस बीच चीन ने एक बार फिर सफाई दी है कि उन्‍होंने न ही COVID19 को बनाया है और न ही इसे अन्‍य देशों में फैलाया है।


कोरोना वायरस को दुनिया के अन्‍य देशों में फैलाने के आरोपों पर सफाई देते हुए चीन ने कहा, न तो कोरोनो वायरस का निर्माण चीन ने किया है और न ही जानबूझकर इसे प्रसारित किया है। इस वायरस के लिए चीनी वायरस या वुहान वायरस जैसे शब्दों का उपयोग गलत है।' चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को चीन के लोगों की आलोचना के बजाय महामारी पर चीन की त्वरित प्रतिक्रिया पर ध्यान देना चाहिए।'


इसके साथ ही कोरोना वायरस से लड़ने के प्रयासों में भारत और चीन के बीच सहयोग पर रोंग ने कहा कि दोनों देशों ने संचार बनाए रखा है और कठिन समय के दौरान महामारी का सामना करने में एक-दूसरे का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि भारत ने चीन को चिकित्सा आपूर्ति प्रदान की है। कई तरीकों से संघर्ष के खिलाफ उनकी लड़ाई का समर्थन किया है। हम इसके लिए भारत की प्रशंसा और धन्यवाद व्यक्त करते हैं।


डब्ल्यूएचओ के बयान का हलावा देते हुए रोंग ने कहा, 'देखिए विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने भी जोर देकर कहा है कि चीन और वुहान को वायरस से जोड़ना सही नहीं है। जो लोग मानव जाति कि लिए किए गए चीन के प्रयासों को कलंकित करने की कोशिश कर रहे हैं, उन्होंने सभी लोगों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को सुरक्षित रखने में किए गए चीनी बलिदानों की अनदेखी की है।