कोरोना से निपटने को पीएम नरेंद्र मोदी ने मंत्रियों को सौंपी जिलेवार जिम्मेदारी


नई दिल्ली। लॉकडाउन से प्रभावित लोगों को राहत के लिए आर्थिक पैकेज के साथ ही सरकार ने तमाम केंद्रीय मंत्रियों को भी महामारी से निपटने का जिम्मा दे दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंत्रिमंडल के सहयोगियों को विभिन्न राज्यों में जिलेवार निगरानी का काम सौंपा है।राज्यों में किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं हो और लगातार फीडबैक लेने के लिए मंत्रियों को राज्य का प्रभारी बनाया गया है।


इन मंत्रियों को राज्य के हर जिले के डीएम और अधिकारियों से रोज बात करनी होगी। उन्हें जानना होगा कि स्वास्थ्य मंत्रालय और गृह मंत्रालय के गाइडलाइंस के क्रियान्वयन में कोई दिक्कत तो नहीं आ रही।  वे ये भी जानेंगे कि लोगों को जरूरी सामानों की दिक्कतें तो नहीं हो रही। मंत्री देखेंगे कि जिले में कोरोना वायरस के कितने पॉजिटिव केस हैं। कितने क्वारनटीन में हैं। 


बिहार के 19-19 जिलों की जिम्मेदारी रामविलास पासवान और रविशंकर प्रसाद को दी गई है।  पासवान  अररिया, अरवल, औरंगाबाद, बेगूसराय, भागलपुर, बांका, भोजपुर, बक्सर, दरभंगा, पूर्वी चंपारण,  गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, कैमूर, कटिहार, खगड़िया, किशनगंज, लखीसराय जिले संभालेंगे। वहीं रविशंकर प्रसाद मधेपुरा, मधुबनी, मुंगेर, मुजफ्फऱपुर, नालंदा,  नवादा, पटना, पूर्णिया, रोहतास, सहरसा, समस्तीपुर,  सारण, शेखपुरा, शिवहर, सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, वैशाली, पश्चिमी  चंपारण के प्रभारी होंगे।


राजनाथ यूपी के 20 जिले संभालेंगे


प्रधानमंत्री मोदी ने उत्तर प्रदेश के बीस जिलों की जिम्मेदारी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को सौंपी है। वहीं, केंद्रीय मंत्री महेंद्र पांडेय और संजीव कुमार बालियान को भी 20-20 जिलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है। राज्य के बाकी जिलों में सरकारी प्रयासों पर अमल की नजर रखने का काम कृष्णपाल गुज्जर को दिया गया है। 


अश्वनी चौबे दिल्ली का प्रभार संभालेंगे
दिल्ली में निगरानी की जिम्मेदारी अश्वनी कुमार चौबे को दी गई है। वही, उत्तराखंड नित्यानंद राय और झारखंड की जिम्मेदारी मुख्तार अब्बास नकवी संभालेंगे।